Love quotes

Hindi shayari

उसकी आँखों में अपना चेहरा ढूंढ रहा हूं
उसकी ज़िंदगी पर अपना पहरा ढूंढ रहा हूँ

कही छोड़ न दे मुझको मझधार में अकेले
उसकी मोहब्बत में ज़ख्म गहरा ढूंढ रहा हूँ


------💘-----💘----

❛तकदीर ने चाहा जैसे ढल गये हम,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गये हम। 

किसी ने विश्वास तोड़ा किसी ने दिल,
और लोगों को लगता है की बदल गये हम।❜
------💘-----💘----

बहुत संभलकर लिखना पड़ता है,जहन ए जज्बात को,
वर्ना स्याही पर नहीं गहराई पर सवाल उठते है ... :)
------💘-----💘----

ये आईने क्या देंगे
तेरी शख्सियत की खबर..

कभी मेरी आँखो से आ के पूछ,
कितनी लाजवाब है तु...
------💘-----💘----

अगर है गहराई तो चल डुबा दे मुझ को,
समंदर नाकाम रहा अब तेरी आँखो की बारी है ...
------💘-----💘----

बांध कर मेरे हाथ पर ताबीज़...नज़र का!!
वो ख़ुद मुझ पर...नज़रें लगाए बैठे हैं
.------💘-----💘----

सवाल का जवाब
सवाल में ही मिला मुझे…

वो शख्स मेरा खयाल था
ख़्याल में ही मिला मुझे…

Love quites


------💘-----💘----
हम तो उनके दिल से अपना दिल जोड़ने चले थे,
पर
उन्होंने तो दिल ही किसी और को दे दिया।
------💘-----💘----

सुलगती रेत में पानी की अब तलाश नहीं
मगर ये मैंने कब कहा के मुझे प्यास नहीं।
------💘-----💘----
नींद भी नीलाम हो जाती है
बाज़ार -ए- इश्क में,
अगर खरीददार गलत हो
 तो बस जिस्म ही बिक  पता

------💘-----💘----
किसी को भूल कर सो जाना,
इतना भी आसान नहीं होता !
------💘-----💘----
दिल की हालत बताई नहीं जाती,
  हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती,

 बस एक याद बची है उनके जाने के बाद,
वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।

यादों को ख्वाब में सजा लीजिए,
रिश्तों को रूह में बसा लीजिए।

गैरों के लिए वक़्त यहाँ बेहिसाब है,
अपनों को भी वक्त कुछ अदा कीजिए।

------💘-----💘----
तुझे इनकार है मुझसे; मुझे इकरार है तुझसे,
तू कफा है मुझसे; मुझे चाहत है तुझसे,

तू मायूस है मुझसे ;मुझे खुशी है तुझसे,
तुझे नफरत है मुझसे और मुझे प्यार है सिर्फ तुझसे।
------💘-----💘----

ना चाँद चाहिए
ना फलक चाहिए
,
चाहे ख्वाबो में ही क्यु ना दिखो
मुझे बस तुम्हारी एक झलक चाहिए।
------💘-----💘----

तुमको होगी..लाख समझ इश्क़ की..,
हमारी इश्क़ में.. नादानी ही अच्छी...
------💘-----💘----
आप मेरे हो,लोगों में अफवाह फैला दूँ क्या?
तुमसे जलने वालों को,थोड़ा और जला दूँ क्या?

------💘-----💘----

जो आनंद अपनी
छोटी पहचान बनाने मे है,

वो किसी बड़े की
परछाई बनने मे नही है


हर जख्म का इलाज दवा नहीं होती दोस्त
बांटने से दर्द कम होते तो

------💘-----💘----
जो लिखना है तू लिख दे मेरे नसीब में..!!

मेरी किताब का हर पन्ना खाली है तेरे बिऩ....

------💘-----💘----

जंग लगी तलवारों पर अब फिर से धार लगानी होगी,
कुछ लोग औकात भूल गए अपनी,
 उन्हें  उनकी औकात याद दिलानी होगी
------💘-----💘----
बोलने की आदत नहीं कहकर
क़ाबलियत का सबूत दूंगा,
 खिलाफ बोलते है जो आज मेरे,
कल उनकी मैं कह के लूंगा

------💘-----💘----
हसकर जीना दस्तूर है जिंदगी का
इक यही किस्सा मशहूर है जिंदगी का।

बीते हुए पल कभी लौट कर नहीं आते
यही सबसे बढ़ा कसूर है जिंदगी का॥
------💘-----💘----

परेशानी में कोई सलाह मांगे,
तो सलाह के साथ अपना साथ भी देना,

क्योकि सलाह गलत हो सकती है, साथ नहीं।
------💘-----💘----

बैग के ऊपर लेटा थककर पैदल चलता वो बच्चा,
सींच के लहू पसीने से तब खींच ले जाती उसकी माँ,

ऐसे लाखो चेहरे है जो आंखों में उम्मीद लिए,
चलते चलते सोच रहे है ज़िंदा घर पहुचेंगे क्या ?
------💘-----💘----

कोई मिल जाए तुम जैसा
यह तो बहुत मुश्किल है
 पर तुम ढूँढ लो हम जैसा
सुन मेरी जान याह इतना मुमकिन नहीं

------💘-----💘----
अब मेरे लफ्जो की कर्द कम होने लगी है
ऊनकी नजरों मे

वक्त साथ साथ मोहब्बत भी पुरानी होने
लगी है शायद
------💘-----💘----

कौन–कौन सी बातें याद करू तेरी...
सारी की सारी झूठी ही तो थी.. .
------💘-----💘----

बस थोड़ी सी हिम्मत रखने की जरूरत है,
आखिर, हारूँगा भी कितना।
------💘-----💘----

कातिल भी क्या तोहमत उठा रहा हैै,
हमारी ही मोहब्बत पर सवाल उठा रहा है

------💘-----💘----
कैसे कह दूँ कि उनसे मुलाकात नहीं होती, वो
बात और है कि अब बात नहीं होती,
------💘-----💘----
बिछड़ते वक़्त मेरे ऐब गिनाये उसने... सो
हूँ जब मिला था तब कौन सा हुनर था मुझमें..
------💘-----💘----
मोहब्बत खो गयी मेरी बेवफ़ाई के दलदल में, 
मगर इन पागल आँखो को
 आज भी तेरी तलाश रहती है !!
------💘-----💘----
इन बादलो का मिजाज, मेरे महबूब सा है, 
कभी टूट कर बरसते है, क
बेरुखी से गुजर जाते हैं...
------💘-----💘----
P

Post a comment

0 Comments